/*-------------------------- Narrow black Orange-------------*/ .MBT-readmore{ background:#fff; text-align:right; cursor:pointer; color:#EB7F17; margin:5px 0; border-left:400px dashed #474747; border-right:2px solid #474747; border-top:2px solid #474747; border-bottom:2px solid #474747; padding:2px; -moz-border-radius:6px; -webkit-border-radius:6px; font:bold 11px sans-serif; } .MBT-readmore:hover{ background:#EB7F17; color:#fff; border-left:400px dashed #474747; border-right:2px solid #EB7F17; border-top:2px solid #EB7F17; border-bottom:2px solid #EB7F17; } .MBT-readmore a { color:#fff; text-decoration:none; } .MBT-readmore a:hover { color:#fff; text-decoration:none; }

Friday, 9 August 2013

एक प्रोब्लम विन्डो आपरेटिंग सिस्टम की इसे साल्व करें, Windows System Error – Insufficient System resources exist to complete the API.

अपने सिस्टम को बिना बंद किये दुबारा से काम करने के लिए अपने सिस्टम में हाइबरनेट आपसन का प्रयोंग करते हैं, हाइबरनेट आपसन आप्सन करने के बाद यदि आपको कही जाना पड़ गया और आपने अपना सिस्टम बंद नहीं किया तो कोइ बात नहीं, आपका सिस्टम कुछ समय बाद अपने आप बंद हो जायेगा और दुबारा खोलने के बाद फिर उसी जगह पर ओपन हो जाता है.

क्‍या कभी आपने विंडोज के हाइबरनेट आपसन का प्रयोंग किए हैं ? यह एक बहुत ही उपयोगी फीचर है विना सिस्‍टम बन्‍द किए दुबारा से काम करने के लिए इस आपसन का प्रयोग करते हैं.  लेकिन कभी  कभी या कुछ दिनों के बाद यक एरर मैसेज का सामना करना पड जाता है. यह एरर इस प्रकार से है.
Windows – System Error
Insufficient System resources exist to complete the API
काफी रिसर्च के बाद पाया गया कि यह एरर मैसेज सिस्‍टम या हार्डवेयर से सम्‍बन्धित नही है बल्कि यह एक केरनर पावर कमी है और इसका माइक्रोसाफट द्वारा एक समाधान दिया गया है.इसे यहॉं से download कर सकते हें.
आशा करता हूँ इससे इस एरर मैसेज का समाधान हो जाए.



आज का अनमोल वचन

चाँद ने मुझसे पूछा की तू उसे क्यों याद करता हे जो तुझे याद नहीं करता ! तो मेने कहा की जब तू नहीं आता तो क्या आसमान तेरा साथ छोड़ देता !!!!

No comments:

Post a Comment

अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो अपने विचार दे और इस ब्लॉग से जुड़े और अपने दोस्तों को भी इस ब्लॉग के बारे में बताये !