/*-------------------------- Narrow black Orange-------------*/ .MBT-readmore{ background:#fff; text-align:right; cursor:pointer; color:#EB7F17; margin:5px 0; border-left:400px dashed #474747; border-right:2px solid #474747; border-top:2px solid #474747; border-bottom:2px solid #474747; padding:2px; -moz-border-radius:6px; -webkit-border-radius:6px; font:bold 11px sans-serif; } .MBT-readmore:hover{ background:#EB7F17; color:#fff; border-left:400px dashed #474747; border-right:2px solid #EB7F17; border-top:2px solid #EB7F17; border-bottom:2px solid #EB7F17; } .MBT-readmore a { color:#fff; text-decoration:none; } .MBT-readmore a:hover { color:#fff; text-decoration:none; }

Wednesday, 7 August 2013

IPv4 & IPv6 इन्ट रनेट एड्रेसिंग सिस्ट म के बारे में जानकारी प्राप्त करें .

सबसे पहले तो यह जाने कि IP का मतलब क्‍या है. IP का मतलब होता है इन्‍टरनेट प्रोटोकाल जिसके द्वारा इन्‍टरनेट को कन्‍ट्रोल करते हैं.  आईपी  इन्‍टरनेट के लिए एक सीढी है. विना आईपी एड्रेस के कम्‍प्‍युटर को काम्‍युनिकेशन और एक दूसरे से डाटा भेजने के लिए सक्षम नही किया जा सकता है.

What is IPv4 and IPv6 internet addressing system…

आईपी के बर्तमान संस्‍करण को IPv4  का नाम दिया गया है. यह एक ऐसी तकनीक है जो हमारे उपकरणों को वेव से कनेक्‍ट होने के लिए पॉसिबल करता है. चाहे वह डिवाइस जैसे कम्‍प्‍युटर, मोबाइल या  फिर दूसरे डिवाइस हों.  यह कम्‍प्‍युटर को वेव के जरिए डाटा भेजने के लिए एड्रेस को एक संख्‍या के रूप संकेत करता है जैसे कि 99.48.227.227 आदि.  IPv6 इसका लेटेस्‍ट वर्जिन है.


No comments:

Post a Comment

अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो अपने विचार दे और इस ब्लॉग से जुड़े और अपने दोस्तों को भी इस ब्लॉग के बारे में बताये !